Featured Post

द्वादश ज्योतिर्लिंग -[भाग-6]-महाकालेश्वर

‘ ऊँ महाकाल महाकाय , महाकाल जगत्पते। महाकाल महायोगिन् ‌ महाकाल नमोऽस्तुते॥ - महाकाल स्त्रोत(महाकाय, जगत्पति, महायोगी महाकाल को नमन) ...

नागार्जुन सागर बाँध,गुंटूर


आंध्र प्रदेश में गुंटूर की स्‍थापना फ्रांसिसी शासकों ने आठवीं शताब्‍दी के मध्‍य में की थी.करीब 10 शताब्दियों तक उन्‍होंने यहां राज किया. बाद में 1788 में इसे ब्रिटिश साग्राज्‍य में मिला दिया गया.यहाँ की प्राकृतिक सुंदरता देखते ही बनती है.

इस विश्व विद्धयालय के कुलपति आचार्या नागार्जुन हुआ करते थे.जो की एक बड़े बोद्धनुयायी थे.
अवशेष में पाए स्तूप पर ब्राहमी में लिखा बताता है की यहाँ भगवान बुद्ध भी कभी रहे होंगे.
कृष्णा नदी पर बने इस बाँध का नाम इन्हीं के नाम पर रखा गया है.
गुंटूर बौद्ध धर्म का प्रमुख केंद्र रहा है. प्राचीनकाल में यह' विजयपुरी 'था .


नागार्जुन बाँध बनाते समय हुई खुदाई में नागार्जुनकोंडा में तीसरी सदी के बोध के अवशेष मिले हैं.यहाँ खुदाई के दौरान महा चैत्या स्तूप के भी अवशेष प्राप्त हुए.यहाँ कभी विहार,बोद्ध मोनेस्ट्री और एक विश्व विद्धयालय हुआ करता था.








नागार्जुन बाँध हैदराबाद से 150 किमी दूर ,कृष्णा नदी पर स्थित है.इसका निर्माण १९६६ में पूरा हुआ था.४ अगस्त ,१९६७ में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी द्वारा इसकी दोनों नहरों में पहली बार पानी छोड़ा गया था.इस बाँध को बनाने की परिकल्पना १९०३ में ब्रिटिश राज के समय की गयी थी.

यह एशिया का सब से उँचा और लंबा बाँध है.इस बाँध से निर्मित नागार्जुन सागर झील दुनिया की तीसरी सब से बड़ी मानव निर्मित झील है.

१० दिसंबर १९५५ में इस बाँध की नींव तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने रखी थी.उन्होने उस समय यह कहा था.

"When I lay the foundation stone here of this Nagarjunasagar, to me it is a sacred ceremony".
"This is the foundation of the temple of humanity of India, i.e. symbol of the new temples that we are building all over India".
इस बाँध की विशेषताएँ-:

* Catchment Area : 215000 km² (83012 sq mi)
* Masonry dam
o Spillway of dam : 471 m
o Non-over flow dam : 979 m
o Length of Masonry dam : 1450 m
o Maximum height : 125 m
* Earth dam
o Total Length of Earth dam : 3414 m
o Maximum height : 26 m
***इस hydro electric plant की 815.6 MW with 8 units की पावर क्षमता है जिस से मुख्यत गुंटूर के किसानो को लाभ मिलता है.पहली unit १९७८ में और ८वि unit १९८५ में लगाई गयी थी .
-नालगोंडा क्षेत्र को पीने का पानी भी इसी बांध से मिलता है.

-दाहिनी मुख्य नहर का नाम-- जवाहर नहर है .
-बायीं मुख्य नहर का नाम लाल बहादुर नहर है.

-इसके अलावा यहाँ नागार्जुनसागर श्रीसैलम अभ्‍यारण्‍य है.
3568 गर्व किमी. क्षेत्र में फैला यह अभ्‍यारण्‍य भारत में सबसे बड़ा टाइगर रिजर्व माना जाता है. इसके अलावा यहां फूलों व वनस्‍पतियों की अनेक प्रजातियां भी पाई जाती हैं.

-इसी बाँध के पास आधे घंटे की ड्राइव पर एथीपोतला नमक जलप्रपात हैं.


नजदीकी हवाई अड्डा -गन्‍नवरम है

नजदीकी रेलवे स्‍टेशन -गुंटूर और विजयवाड़ा.

सड़क मार्ग-बस सेवाएं गुंटूर को जिले के अंदर व बाहर के प्रमुख स्‍थानों से जोड़ती है.

References---http://en.wikipedia.org/wiki/Nagarjuna_Sagar_दम
http://www.nagarjunasagar.com/
added to wikipedia hindi on august 16 by me.

2 comments:

Udan Tashtari said...

आभार उम्दा तस्वीरों और जानकारी के लिए.

माधव said...

nice post. very informative